Skip to main content

DM full form in Hindi – DM का मतलब क्या है?

दोस्तों DM एक ऐसा शब्द है जिसके बारे में आप अक्सर ही सुनते होंगे। अपने रोज़ाना की ज़िन्दगी में आपने इस शब्द का Use भी कई बार किया होगा। इसके साथ ही बहुत से लोग ये भी जानते होंगे कि DM किसी ज़िलें के ज़िलाधिकारी को कहा जाता लेकिन DM full form क्या होता है ये बहुत कम लोगो को पता होता है।
इसीलिए आज हम आपको DM का फुलफॉर्म बताने के साथ ही इससे जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण Information भी देने वाले हैं। इस क्रम में आइये सबसे पहले जानते हैं कि DM का फुलफॉर्म क्या होता है?
दोस्तों DM का फुलफॉर्म बताने से पहले हम आपको ये भी बता दें कि DM शब्द दो Field से जुड़ा हुआ है, जहाँ पर इसका Short Form प्रयोग किया जाता है। इसलिए आज हम यहाँ पर आपको दोनों ही Field से जुड़े DM के फुलफॉर्म को बताने वाले हैं।

DM meaning in Medical

DM का पद Medical के Field से भी जुड़ा हुआ है।
Medical के Field से जुड़े DM का फुलफॉर्म होता है – Docterate of Medicine
DM meaning in Hindi – डॉक्टरेट ऑफ मेडिसिन.
यह Medical के Field में एक Degree होती है जिसे की DM कहा जाता है।

DM in JOB

वहीं दूसरी तरफ़ प्रशासनिक Field में DM का फुलफॉर्म होता है – District Magistrate
DM in Hindi – डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट
इसे हिन्दी में जिलाधिकारी भी कहा जाता है। ये किसी भी ज़िलें का मुखिया यानी कि सर्वोच्च अधिकारी होता है। किसी भी ज़िलें के सभी विभागों पर नज़र रखने का काम DM को ही रखना पड़ता है। ज़िलें में घटने वाली किसी भी घटना के लिए वहाँ का DM ही उत्तरदायी होता है। ज़िलें में शान्ति व्यवस्था बनाये रखना तथा विभिन्न Tax की वसूली की ज़िम्मेदारी भी DM की ही होती है।
अपने ज़िलें में कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए DM के आधीन वहाँ का पुलिस Department तथा अन्य सभी मुख्य विभाग होते हैं तथा ये सभी DM के आदेशानुसार ही काम करते हैं।
दोस्तों हमनें DM का फुलफॉर्म तथा इसके काम के बारे में तो जान लिया अब आइये इसी क्रम में हम ये भी जान लेते हैं कि DM कैसे बना जाता है। बहुत से लोगों की इच्छा होती है DM बनने की, लेकिन उन्हें ये नही पता होता कि आख़िर वो किस तरह से DM बन सकते हैं। इ
सीलिए आज हम आपको ये बताने वाले हैं कि आप DM कैसे बन सकते हैं?

DM कैसे बने?

दोस्तों DM बनने का एक ही रास्ता है ‘UPSC’.
UPSC यानी कि यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन ही वो संस्था है जो कि देश के लिए ‘DM’ यानी कि ‘District Magistrate’ का चुनाव करती है। इसके लिए UPSC हर साल IAS का Exam करवाती है। IAS की इस परीक्षा को पास करके आप सीधे ही ‘DM’ बन सकते हैं।
इसके अलावा आप IAS का Exam पास कर के कोई अधिकारी बन जाये। इसके बाद आप प्रमोशन से भी IAS बन सकते हैं। लेकिन यहाँ पर हम आपको ये बता दे कि DM बनने के लिए आपको UPSC का IAS Exam किसी भी हालत में पास करना होगा। तभी आप इस पद को पा सकेंगे।
इसी क्रम में आ आइए ये भी जान लेते हैं की IAS के Exam को देने के लिए आपकी Eligibility क्या होनी चाहिए।

IAS की Eligibility?

  • UPSC द्वारा आयोजित इस Exam को देनें के लिए आपका किसी भी Stream से तथा किसी भी Subject से Graduate होना आवश्यक है।
  • अगर आप Graduation के आख़िरी Semester में हैं तो भी आप IAS का Exam दे सकते हैं।
  • IAS के Exam में बैठने के लिए आपका Indian Citizen होना आवश्यक है।
दोस्तों IAS के Exam के लिए Age Limit भी तय की गयी है। जो कि इस प्रकार से है –
1. General Catagory के Candidate की Age 21से 32 वर्ष के बीच होनी चाहिए। वहीं OBC तथा SC/ST के Candidate को इस Age Limit में क्रमशः 3 और 5 वर्ष की छूट दी गयी है।
अतः IAS के लिए –
  • OBC Candidate की Age Limit- 21- 32+3= 35 वर्ष
  • SC/ST Candidate की Age Limit- 21 – 32+5= 37 वर्ष
इसके साथ ही इस Exam के लिए Attempt की संख्या भी Limit तय की गई है। General कैटेगरी के Candidate अपनी Age Limit के भीतर इस Exam को सिर्फ़ 6 बार ही दे सकते हैं। वहीं OBC Category के Candidate इस Exam को 35 वर्ष के भीतर 9 बार दे सकते हैं। जबकि जो SC/ST Category के Candidate हैं वो IAS के Exam को 37 वर्ष तक +कि आयु तक Unlimited बार दे सकते हैं।
दोस्तो हमने IAS के लिए आवश्यक Eligibility के बारे में तो जान लिया अब आइये हम आपको IAS Exam के Pattern के बारे में भी बता देते हैं।

IAS के लिए exam

भारत के सबसे Tough Exam माने जाने वाले इस IAS के Exam के लिए UPSC ने तीन चरण निर्धारित किए हैं। इसका पहला Step होता है-

● Prelims Exam –

Preliminary Exam जिसे की IAS की प्रारंभिक परीक्षा भी कहा जाता है। IAS के इस Pre परीक्षा में Candidate को दो Paper देने होते हैं जो कि Objective Based होते हैं। ये दोनों पेपर मिलाकर 400 Marks का होता है। यह सिर्फ़ IAS का Qualifying Round होता है, इस Prelims के Exam के Marks IAS के Final Exam के Marks में नहीं जोड़े जाते हैं।
लेकिन इस Exam को पास करने के बाद ही आप इसके आगे के Exam यानी कि Mains में बैठ सकते हैं। इस Exam में Candidate को न्यूनतम 33% Marks लाने होते है तभी वो Qualified माना जाता है।
इस Exam में Candidate को दो पेपर देने होते हैं-
1. General Ability Test (GAT) –
इसमें कुल 80 प्रश्न पूछे जाते हैं। प्रत्येक प्रश्न 2 अंक का होता है। इसमें 1/3 की Negative Marking भी होती है।
2. Civil Services Aptitude Test (CSAT) –
इसमें Candidate से कुल 100 प्रश्न पूछे जाते हैं। प्रत्येक प्रश्न 2.5 अंक का होता है। इसमें भी 1/3 की Negative Marking होती है। यानी कि गलत उत्तर देने पर आपके अंक काट लिए जाएंगे।

● Mains Exam –

जो Candidate IAS के Pre Exam को पास कर जाते हैं वो ही इसके Mains Exam के लिए Eligibile होते हैं। Mains Exam में Candidate को 2 तरह के पेपर देने होते हैं। जिसमें से 2 Language के पेपर होते हैं तथा 7 अन्य विषयों के पेपर होते है। Language वाले पेपर के Marks नहीं जुड़ते है ये सिर्फ़ Qualifying पेपर होते हैं।
Language पेपर में English का पेपर सभी के लिए Compulsary होता है वहीं इसमें एक भाषा Candidate को अपने अनुसार चुनना होता है।
दूसरे Part में कुल 7 पेपर होते हैं तथा सभी में 300-300 प्रश्न पूछे जाते हैं। इन 7 पेपरों में आये Marks को Candidate के Final Marks तथा Interview में आये Marks को जोड़कर उसकी Merit बनाई जाती है। IAS का Mains Exam कुल 1750 अंको का होता है। इसमें स Obtained Marks के अनुसार ही Candidate की Rank निर्धारित की जाती है।

● IAS Personality Test –

ये IAS की परीक्षा का आख़िरी चरण होता है। IAS ज Main के Exam को Qualify करने वाले Candidate को Personality Test के लिए बुलाया जाता है। ये 275 अंको का Test होता है। इस Test में तथा Mains Exam में आये Marks को जोड़कर ही IAS में सफ़ल Final Candidate की Merit List बनाई जाती है। इसी के अनुसार Ranking भी जारी की जाती है।
IAS की इस परीक्षा में सफ़ल अभ्यर्थियों को IAS की Training के लिए भेजा जाता है। Training के बाद ही इन्हें विभिन्न जगहों पर IAS Officer के रूप में तैनात किया जाता है। एक बार IAS बन जाने के बाद आप आसानी से DM बन सकते हैं।
दोस्तों हमारे देश में DM के पद को जितना सम्मानित माना जाता है उतना ही कठिन इसका Exam होता है। अतः अगर आप DM बनने का सपना देखते हैं तो इसे पूरा करने के लिए आपको काफ़ी लगन और मेहनत करने की जरूरत होगी। तभी आप भारत के इस शीर्षतम पद को हासिल कर सकेंगे।

Comments

Popular posts from this blog

आपका सट्टा मटका लकी नंबर क्या है ! Matka Lucky Number in Hindi???

नमस्कार दोस्तों एक बात तो है ये जो Lucky Number (शुभ अंक) है ये हमारी जिन्दगी में बहुत महत्वपूर्ण होते है जैसे हम कौनसी Date में जन्म लेते है इसके अनुसार ही हमारा व्यवहार को जाना जाता है उदाहरण के तौर पर जिनका जन्म एक तारीख को होता है ऐसे लोग बहुत अधिक तेज होते है ठीक ऐसे ही जिनका जन्म दो को होता है को प्यार करने में बहुत आगे होते है और तीन वाले अधिक भावुक फिर चार वाले अधिक खुश रहने वाले होते है ऐसे ही बाकि पांच से नौ तक सभी में कुछ न कुछ खाश बात होती है.
अब ऐसा सिर्फ पांच से नौ तक ही नहीं चलता अगर आपका ग्यारह का है तो आपका एक+एक कुल=2 मूलांक होता है. अब आप बिलकुल ऐसे ही आगे की तारीख को भी ऐसे ही जोड़कर निकाल सकते है.
How to Know Lucky Number (लकी नंबर कैसे जाने)अब इससे तो सिर्फ यह पता चलता की आप कैसे व्यक्ति है पर सबसे जरुरी है आपका शुभ अंक (Lucky Number) क्या है. मेने देख है लोग शुभ का उपयोग कई जगह पर करते है जैसे अगर किसी को घर लेना हो, गाड़ी लेनी या फिर सट्टा लगाना हो आदि.
How to know (कैसे जाने)यह मान्यता काफी पुरानी है लोग ऐसा सोचते है और हमारे शास्त्रों में दिया गया है की यदि आप शुभ…

Gali ! Gaziabad ! Faridabad ! Disawer - Ka Confirm Lucky Number

Yahan Milega Aapko: Aaj Ka (Today) Gali Satte Ka Confirm Number, Aaj Ka Gaziabad Satte Ka Lucky Number, Faridabad Ka Aaj Ka Satta Number For Free Or Sath Hi Me Aapko Yaha Disawer Ka Lucky Number Bhi Milega.
Aaj Ke Lucky Number Ke Liye Link Par Click Kare.गाजियाबाद 30 लकी नंबर्स यहाँ क्लिक करो : Gaziabad Lucky Numbersगली के 30 लकी नंबर्स यहाँ क्लिक करो : Gali Lucky Numbersफरीदाबाद 30 लकी नंबर्स यहाँ क्लिक करो : Faridabad Lucky Numbersदिसावर 30 लकी नंबर्स यहाँ क्लिक करो : Disawer Lucky NumbersPlease Note Kare: Humare Yaha Diye Gaye Sabhi Lucky Number Jyotish Shastra Par Adharit Hai, Vartman Grahon Ki Stithi Ke Anisar Hi Ye Sabhi Shubh Ank (Lucky Number) Tayaar Hote Hai, Koi Bhi Aadmi Aapko 100% Pakka Number Nahi De Sakta, Agar Koi Bhi Aisa Dava Karta Hai To Wah Ek Dum Jhuta Hai. Uske Chakkar Me Na Pade Or Apne Paise Barbad Na Kare.
यह भी पढ़ें :

Main Kalyan Matka Me Open to Close Kaise Nikalen Jankari Hindi Me?

Is Post Me Aapko Main Kalyan Matka Me Open to Close Ank (Number) Nikalane Ka Achuk Tarika Milega. The Best Satta Matka, Kalyan Matka Tips and Tricks in Hindi???
आज आपको हम बताएँगे एक ऐसी Tricks जिसकी मदद से आप मन चाहा Main Kalyan का Open To Close अंक (Number) निकाल सकते है. इससे पहले आपको एक जरुरी बात बताना चाहूँगा. आपने इन्टरनेट पर Satta Matka या Kalyan Matka से संबधित बहुत सारी Website देखि होगी और इन सभी वेबसाइटों में से ज्यादातर वेबसाइटे सिर्फ अचूक अंक (Lucky Number Ya Date Fix Jodi) याकी ही बात करती है. और आप लोगों से 5 हजार से 15 हजार तक मांगती है और यह भी कहती है की ये आपको सीधे मटका कम्पनी से Date Fix Number लाकर देते है.इन वेबसाइटों की हकीकत तो यह है की ये सब पैसे लेने के बाद आपका फ़ोन तक नहीं उठाते है और इनका एक लिमिट तक का पैसा जब इनके बैंक खाते में जमा हो जाता है तो ये लोग अपना मोबाइल का नंबर ही बदल देते है जो की इनकी वेबसाइटों पर दिया गया होता है. आपको बता देना चाहूँगा की मटका कंपनी हर किसी को Date Fix Number नहीं देती है यह लोग फर्जी होते है धोके से लोगों की मेहनत के पैसे …